KESHAV & SHARMA JI : बड़े घर की लड़की (ढाई किलो प्रेम)

Please Share :

Dr. G.Singh

 

शर्मा : अरे देखिये केशव जी भैंसा आ रहा है
केशव : अरे कहाँ
शर्मा  : सामने देखिये मोड़ के पास
केशव : आप शायद मनीष को भैंसा कह रहे हैं
शर्मा : और नहीं तो क्या फ़ास्ट फ़ूड खा खा कर मोटा भैंसा हो गया है
केशव : हम्म
केशव : अरे देखिये भैंस भी आ गयी
शर्मा : कैसी बात करते हैं केशव जी सुनीता बड़े घर की लड़की है | माँ बाप ने बड़े प्यार से पला है | इसी लिए थोड़ा हेल्थी है बस
केशव : हम्म आपका मतलब है की मनीष को उसके माँ बाप ने प्यार से नहीं पला
शर्मा : आप भी केशव जी बस हमेशा महिलाओं के पीछे पड़े रहते हैं |
केशव : और आप भी बस हमेशा पुरुषों की बुराई मैं लगे रहते हैं
शर्मा : यह तो आपका सोचने का नज़रिया है वरना मैंने तो वही कहा जो सब कहते हैं
केशव : सब के कहने से आपको फालतू बात कहने का अधिकार तो नहीं मिल जाता
शर्मा : हां यह तो है

 

ढाई किलो प्रेम

 

 

DAMAN WELFARE SOCIETY

www.daman4men.in