किस्सा एक Legal Terrorism के पीड़ित का…

Please Share :

पीड़ित: सभी सरकारें anti men हैं, SIF को कुछ बड़ा करना चाहिए

मैं: वोट किसको दिया था?

पीड़ित: टिंडा पार्टी को

मैं: NOTA क्यों नहीं दबाया

पीड़ित: NOTA दबाने से बैंगन पार्टी जीत जाएगी

मैं: SIF ने NOTA माँगा था, ये तो पता है ना?

पीड़ित: हाँ पता है, परन्तु NOTA बैंगन पार्टी की साज़िश है इसलीये NOTA फालतू है

मैं: कैसे?

पीड़ित: NOTA से बैंगन पार्टी जीत जाएगी जिसने तोरी- नमक anti men क़ानून बनाया था

मैं: टिंडा पार्टी ने भी लौकी नाम से anti men क़ानून बनाया है और भिन्डी क़ानून का मसौदा ड्राफ्ट तैयार है

पीड़ित: बैंगन पार्टी anti men है

मैं: तुमने खुद कहा था कि सब सरकारें anti men हैं, यानी की टिंडा पार्टी की सरकार भी anti men थी?

मैं: चलो छोड़ो, ये बताओ कि SIF की weekly meeting में जाते हो?

पीड़ित: नहीं, वहां बहुत politics है

मैं: SIF की दूसरी किसी activity में शामिल तोते हो?

पीड़ित: नहीं, बहुत सारा समय कोर्ट में गुजर जाता है, इसलिए नहीं जा पाता

मैं: तो कुछ financial support तो करते होगे?

पीड़ित: करना चाहता हूँ, परन्तु कोर्ट, छुटेली और घर खर्चे के बाद कुछ नहीं बचता

मैं: कुछ men supportive material तैयार कर सकते हो? जैसे कोई ब्लॉग या विडियो या लेख?

पीड़ित: नहीं, ये सब मुझे नहीं आता

मैं: तो किस तरह का support कर सकते हो SIF को

पीड़ित: जैसे भी जरूरत हो और SIF demand करे

मैं: SIF ने NOTA माँगा था ना?

पीड़ित: NOTA से बैंगन पार्टी जीत जाती

मैं: SIF, weekly meeting में participation मांगती है

पीड़ित: वहाँ politics है

मैं: जरूरत तो finance की भी है

पीड़ित: गरीब आदमी हूँ

मैं: time donate करो

पीड़ित: मैं writer/artist आदि नहीं हूँ

मैं: तो कैसे support कर सकते हो SIF को?

पीड़ित: जैसे SIF चाहे

मैं: जाओ मुन्ना, अपना case settle करो, तुमसे कुछ न हो पाएगा

पीड़ित: SIF को कुछ करना चाहिए बहुत false case हैं

मैं: हाँ, बिल्कुल…