अजब गजब – 04

Please Share :

अजब गजब

(Episode – 04 )

अनाम

 

 

 

आज बहुत खामोश हो

तो क्या सारा दिन बक बक करता रहूँ

इसका मतलब आज कुछ अजब गजब नहीं हुआ अदालत में

हुआ ना

सुनाओगे नहीं

बिल्कुल सुनाऊंगा बस इंतज़ार कर रहा था कि तुम पुछो और में बताऊँ

तो सुनाओ

सुनो । आज एक लड़की ने आत्महत्या कर ली

 

यह तो अजब गजब नहीं हुआ हर साल आंकड़ा 30000 के पार जाता है मतलब की लगभग हर रोज 80 से अधिक तो एक लड़की ने अगर आत्महत्या कर ली और उसका मामला तुम्हारी कोर्ट में आ गया तो अजब गजब तो नहीं हुआ ।

 

पूरी बात सुनो

सुनाओ

तो एक लड़की ने आत्महत्या कर ली और उसकी आत्महत्या का आरोप किसी आदमी पर नहीं लगाया जा रहा

हा यह अजब गजब मामला है

तो आज हँसोगे नहीं

नहीं

क्यों ?

क्रांति पर हंसा नहीं जाता या तो उसका विरोध किया जाता है या उसके साथ खड़ा हुआ जाता है ज्यादा से ज्यादा न्यूट्रल रहा जा सकता है ।